सरकारी परीक्षा में पूछे गए कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न (Some important questions asked in government examination) Part 2

 नमस्कार दोस्तों आज हम कुछ ऐसे प्रश्नों के बारे में चर्चा करने वाले हैं जो सरकारी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं.




1.विश्व सांख्यिकी दिवस कब मनाया जाता है(When is World Statistics Day celebrated?) 
-20 October

Theme “Connecting the world with data we can trust"

2.किस राज्य ने हाल ही में महिला सुरक्षा अभियान "Safe City Project" का शुभारंभ किया है(Which state has recently launched the Women's Safety Campaign "Safe City Project"?)
-Uttar Pradesh

Population: 20.42 crores (2012)
Governor: Anandiben Patel
Capital: Lucknow (Executive Branch)
Chief minister: Yogi Adityanath

3.किस देश में एशिया पावर इंडेक्स 2020 में पहला स्थान प्राप्त किया है(Which country has secured the first position in the Asia Power Index 2020?)
-America

President: Donald Trump
Capital: Washington, D.C.

4.पहली बार वर्चुअल G20 (ग्रुप ऑफ़ 20) यूथ 20 (Y20)  ग्लोबल समिति की मेजबानी अल खोबर ______ द्वारा की गई(First time Virtual G20 (Group of 20) Youth 20 (Y20) Global Committee hosted by Al Khobar ______?)
-Saudi Arabia

Founded: 26 September 1999
Location: Al Khobar, Riyadh, Saudi Arabia
Follow: 2019 G20 Osaka summit
Participant: G20
Dates: Sat, 21 Nov 2020 – Sun, 22 Nov 2020
City: Al Khobar, Riyadh

5.उस बैंक का नाम बताइए जिसने हाल ही में व्हाट्सएप पर बैंकिंग सेवाओं को शुरू करने की घोषणा की है(Name the bank which has recently announced the introduction of banking services on WhatsApp?)
-IDBI Bank

IDBI: Industrial Development Bank of India
CEORakesh Sharma (10 Oct 2018–)
Headquarters: Mumbai
Founded: 1 July 1964
 

Comments

कुछ नया सीखे

Inspiring Thoughts

1.खुशी से संतुष्टि मिलती है
और संतुष्टि से खुशी मिलती है
परन्तु फर्क बहुत बड़ा है
“खुशी” थोड़े समय के लिए
संतुष्टि देती है,
और “संतुष्टि” हमेशा के लिए
खुशी देती है

2.शब्द ही जीवन को
अर्थ दे जाते है,
और,
शब्द ही जीवन में
अनर्थ कर जाते है.

3.पानी को कितना भी गर्म कर लें

पर वह थोड़ी देर बाद अपने मूल स्वभाव में आकर शीतल हो जाता हैं।
इसी प्रकार हम कितने भी क्रोध में, भय में, अशांति में रह लें,
थोड़ी देर बाद बोध में, निर्भयता में और प्रसन्नता में हमें आना ही होगा
क्योंकि यही हमारा मूल स्वभाव है ॥