2 July, World UFO Day | Josforup

2 July, World UFO Day

निश्चित तौर पर आपने यूएफओ(UFO) की कहानियां पहले भी सुनी होगी जिसमें बताया जाता है कि दूसरी दुनिया के कुछ लोग हमारी दुनिया में किसी विशेष विमान से आते हैं. उसको हम यूएफओ(UFO) कहते हैं और उसके अंदर जो बैठे होते हैं उनको हम एलियन कहते हैं लेकिन हमारे लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि यह दिन कब बनाया जाता है इस बार परीक्षा में आने की बहुत ज्यादा संभावना है. अगर इस प्रकार का प्रश्न आपके परीक्षा में आता है तो आप निश्चित तौर पर छोड़ कर ही आएंगे.



विश्व यूएफओ(UFO) दिवस की स्थापना यूएफओ के विज्ञानिक हक्तन अकडोगन(Haktan Akdogan) द्वारा की गई थी और इसे पहली बार 2001 में मनाया गया था. यह लोगों में जागरूकता फैलाना है ताकि पृथ्वी से परे जीवन के अस्तित्व के बारे में जागरूक हो सकें.


विश्व यूएफओ दिवस बनाने का उद्देश्य(The aim of World UFO Day)

हक्तन अकडोगन(Haktan Akdogan)

हक्तान अकाडोगन तुर्की में सीरियस यूएफओ स्पेस साइंसेज एंड रिसर्च सेंटर (स्थापना 1995) के संस्थापक और अध्यक्ष हैं. उन्होंने पिछले 32 वर्षों से यूएफओ का अध्ययन किया है. वह "विश्व यूएफओ प्रकटीकरण अभियान" के संस्थापक भी हैं. यह दुनिया भर में एक गैर-लाभकारी अभियान है जिसका प्राथमिक उद्देश्य यूएफओ / ईटी पर यूएन महासभा की खुली और गोपनीयता मुक्त सुनवाई करना है। पृथ्वी पर उपस्थिति.

यूएफओ वास्तविकता पर जनता को सूचित करने के लिए, श्री हक्तन अकडोगन ने 685 से अधिक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय टीवी और समाचार कार्यक्रमों में अतिथि वक्ता के रूप में भाग लिया, और कई लेख प्रकाशित किए और टीवी, रेडियो और राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय समाचार पत्रों दोनों में कई साक्षात्कार दिए.


Comments

कुछ नया सीखे

Inspiring Thoughts

1.खुशी से संतुष्टि मिलती है
और संतुष्टि से खुशी मिलती है
परन्तु फर्क बहुत बड़ा है
“खुशी” थोड़े समय के लिए
संतुष्टि देती है,
और “संतुष्टि” हमेशा के लिए
खुशी देती है

2.शब्द ही जीवन को
अर्थ दे जाते है,
और,
शब्द ही जीवन में
अनर्थ कर जाते है.

3.पानी को कितना भी गर्म कर लें

पर वह थोड़ी देर बाद अपने मूल स्वभाव में आकर शीतल हो जाता हैं।
इसी प्रकार हम कितने भी क्रोध में, भय में, अशांति में रह लें,
थोड़ी देर बाद बोध में, निर्भयता में और प्रसन्नता में हमें आना ही होगा
क्योंकि यही हमारा मूल स्वभाव है ॥