Sad Shayari Hindi/English | मोहब्बत की शायरी | Josforup

Sad Shayari Hindi/English | मोहब्बत की शायरी | Josforup

1.



मेरी छोटी सी जिंदगी से जहान लेकर मानेगी।
वो सोच कर बैठी है कि तूफान लेकर मानेगी।
याद खाव नीद सुकून सब ले लिया उसने मेरा
अब लगता है यह लड़की जान लेकर मानेगी।


Meri chhoti si jindagi se Jahan lekar manegi.
wo soch kar baithi hai ki tufan lekar manegi.
yad khaab nind sukun sab le liya usne Mera 
ab lagta hai ya ladki Jaan lekar manegi.





2.


चार बूदों में गिर जाओगे चीन की दीवार थोड़े ही हो।
तमाम मिटे बैठे हैं मोहब्बत में तुम अकेले शिकार थोड़े ही हो।
अभी भी कुछ नहीं बिगड़ा हट जाओ इन रास्तों से बच जाओगे
नया-नया रोग लगा है पैदाइशी बीमार थोड़े ही हो।


Char bundo mein gir jaaoge chin ki deewar thode hi Ho.
tamam mite baithe Hain Mohabbat mein Tum akele shikar thode hi Ho.
abhi bhi kuchh nahin bigada hat jao ine Raston se bach jaoge
naya naya Rog lga hai paidaishi bimar thodi hi Ho.






3.



हम कहां हैं हमें खुद की खबर नहीं।
ये क्या है सुंकू इधर नहीं सूंक उधर नहीं।
सुना है तमाम मोहब्बत करने वाले रास्तों पर ही मर गए
क्या ये सच है कि मोहब्बत का घर नहीं।


Ham kahan hain hamen khud ki khabar nahin.
yah kya hai sukun idhar nahin udhar nahin.
suna hai tamam Mohabbat karne Wale rasto per hi mar Gaye
kya yah sach hai ki Mohabbat ka Ghar nahin.





4.


हर एक की जिंदगी में कुछ ना कुछ खास होना चाहिए।
इंसान अगर गलत हो तो गलत का एहसास होना चाहिए।
सुख की परवाह मत करो वहां तो सब आ ही जाते हैं
जो दुख में साथ खड़ा रहे वो शख्स पास होना चाहिए।


Har EK ki jindagi mein kuchh Na kuchh khas hona chahie.
Insan agar galat ho to galat ka ehsas hona chahie.
Sukh ki parwah mat karo vahan to sab aa hi jaate Hain
Jo dukh mein sath khada rahe wo sakhsh pass hona chahie.






5.

मेरी जिंदगी के अधूरे मुकाम लौटा दो।
मैं तुम्हारी यादें लौटा रहा हूं तुम मेरी शाम लौटा दो।
तमाम कोशिशों के बाद भी नाकाम रहा पीने में
अपनी आंखों के वोअधूरे जाम लौटा दो।


Meri jindagi ke adhure mukam lauta do.
main tumhari yaden lauta Raha Hun Tum meri Sham lauta do.
tamam koshisho ke bad bhi nakam Raha peene mein
apni aankhon ke wo adhoore jaam lauta do.






6.

मेरी जिद देखी मेरा जुनूं देखा अब मेरा जोर देखलो।
दिल्लगी से फुर्सत मिले तो मेरी ओर देख लो।
लगता है हमारी मोहब्बत से मन भर गया है तुम्हारा
इसमें बुरा क्या मानना आदत है तुम्हारी अब कोई और देख लो।

Meri zid dekhi Mera zunoon dekha ab Mera Zor dekh lo.
Dillagi se fursat mil jaaye to meri aur dekh lo.
lagta hai hamari Mohabbat se man bhar Gaya hai tumhara
ismein Bura kya manana aadat hai tumhari ab koi aur dekh lo.


The author of all these poets is Deepak Chauhan.


Deepak Chauhan.
Deepak Chauhan.



Comments

कुछ नया सीखे