14 Interesting Facts About Diwali Hindi -Josforup

दिवाली भारत का सबसे बड़ा त्यौहार है जिसे हर साल हर शरद ऋतु में हिंदू, जैन, सिख और कुछ बौद्ध लोग मनाते हैं। भारत में दिवाली इस साल को Sunday, 27 October बनाई जाएगी.
14 Interesting Facts About Diwali Hindi -Josforup
                                                 
1- दिवाली को 14 वर्ष का वनवास पूरा करने के बाद भगवान राम और सीता की वापसी के शुभ अवसर पर            बनाया जाता है।
2- दिवाली शब्द का अर्थ "रोशन दीपक की पंक्तियां होता है"।
3- दिवाली अंधकार पर प्रकाश की विजय का प्रतीक है।
4- दिवाली कार्तिक महीने के पंद्रहवें दिन बनाया जाता है यह हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार है और हिंदू धर्म भारत का एक प्रमुख धर्म है और इसे दुनिया में सबसे पुराने धर्म माना जाता है।
5- 800 मिलियन से अधिक लोग इस त्योहार को विभिन्न तरीकों से मनाते है।
14 Interesting Facts About Diwali Hindi -Josforup


6- दीपावली पर माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है ताकि धन और समृद्धि बनी रहे हिंदू धर्म में माता लक्ष्मी को धन और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है।
7- भारत का सबसे प्रसिद्ध सबसे बड़ा और उज्ज्वल त्योहार है और इसे 5 दिनों तक मनाया जाता है।
8-यह फिजी, गुयाना, भारत, मलेशिया (सारावाक को छोड़कर), मारीशस, म्यांमार, नेपाल, सिंगापुर, श्रीलंका, सूरीनाम और त्रिनिदाद और टोबैगो में आधिकारिक अवकाश। और पाकिस्तान में एक वैकल्पिक छुट्टी है।
9- दिवाली दुनियाभर में हिंदुओं और विशेष रूप से भारत में उपहारों का आदान-प्रदान नए कपड़े पहनने और त्योहारों के भोजन की तैयारी करके इस त्यौहार को बनाते हैं।
10- इंग्लिश सिटी ऑफ लिसेस्टर भारत के बाहर सबसे बड़ी दीवाली समारोह का आयोजन करता है।
11- दिवाली के त्यौहार के दौरान अरबों डॉलर के आतिशबाजी प्रज्वलित होते हैं यह आशीर्वाद ही बहुत ही प्रदूषण का कारण बनती है जो की भारत में नई दिल्ली मुंबई कोलकाता और चेन्नई जैसे बड़े और घनी आबादी वाले क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए एक विशेष रूप से जीवन जोखिम में डालती है आतिशबाजी से ध्वनि प्रकाश वायु और पानी को प्रभावित करने वाले विभिन्न प्रदूषण का उत्पादन करती हैं।

14 Interesting Facts About Diwali Hindi -Josforup


12- यह आतिशबाजी स्वास्थ्य के खतरों का कारण बनती है जैसे कि सांस संबंधी समस्या दिल का दौरा उच्च रक्तचाप और कई और अधिक स्वास्थ्य समस्याएं इसके अलावा दीपावली के दौरान आतिशबाजी से बच्चों के लिए सुरक्षा खतरों का भी कारण होता है इसमें से कई पटाखें बच्चे के पास फट गए जिससे उन्हें प्रत्यक्ष चोट लग जाना इसलिए त्योहारों के मौसम में आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए और आने वाले वर्षों में त्यौहार बनाने का एक और अधिक पर्यावरण अनुकूल तरीका अपनाना जाना चाहिए।

13- त्योहारों के मौसम में बिजली की खपत में काफी बढ़ोतरी हुई जिस से बिजली की मांग को पूरा करने के लिए डीजल जनरेटर का भार इस्तेमाल होता है बदले में जीवाश्म ईंधन के जलने के कारण अधिक प्रदूषण का कारण होता है

14-दिवाली में पटाखों की कुल लागत में लगभग एक अरब डॉलर का अनुमान लगाया गया है। यह एक महत्वपूर्ण धन है, जिसका उपयोग अन्य उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है जैसे कि उन व्यक्तियों को शिक्षा और बेहतर स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं प्रदान करना जिनके लिए उन्हें आवश्यकता है।
Redmi Note 8 Pro Unboxing & First Look + Giveaway | Quad Cam Performance Monster

Here are 'Pagalpanti' posters of team From John Abraham to Ileana D'cruz

Comments