Gujara lamha shayari by Deepak | Josforup

1.धड़कनों पर तेरा अधिकार हो जाएगा
    सांस लेना भी दुश्वार हो जाएगा।
   मुझे तो तेरा बस मुस्कुराना अच्छा लगा था
    मुझे क्या मालूम था तुझसे प्यार हो जाएगा।


2. फिर से शाम हुई फिर से फरियाद आ गई
     फिर से कोई मुस्कुराया फिर से तू याद आ गई।

Read also-
जानिए आगरा के बारे में कुछ ऐसी बातें जो आप नहीं जानते हैं

3. आज फिर एक बार जमाने से मुझे नफरत हो गई
     सबर कर सामने आए वो और मुझे फिर से मोहब्बत हो गई|

4. यूं मुस्कुराना तेरा जर्रे जर्रे को खुदा करता है
    कुछ तो है तुझ में जो तुझे औरों से जुदा             करता है।

5. दो दिल जो दूर है पास नहीं हो रहे
    मामले भी ऐसे कुछ खास नहीं हो रहे।
    सही है गलत है ये तो पता नहीं
    बस ज़िन्दगी तेरे फैसले बर्दास्त नहीं हो रहे।
         
6. उसके सारे गुनाह कुछ इस तरह माफ कर          जाता हूं में ।
    याद आ जाती है वो और मुस्करा जाता हूं में।  

7. ज़ख्म दिल के में उसको दिखा ना सका 
   प्यार आंखो से उसको सिखा ना सका
   वो मुझे छोड़ कर के चला ही गया
   और अब तक में उसको भुला ना सका।   

8.   दूर खड़ी रही जिंदगी ना जाने क्यूं पास नहीं        आयी          
      रास आ गए थे किसी को हम ये बात                किसी को रास नहीं आयी                                        -BY DEEPAK

Comments