Mathematical Identities for ssc-cgl

►वर्ग
•क्षेत्रफल = भुजा²
•परिमाप = 4 x भुजा
•विकर्ण = भुजा√ 2
.
►आयत
•क्षेत्रफल = लंबाई x चौडाई
•परिमाप = 2(लंबाई + चौडाई)
•विकर्ण = √ (लंबाई² +चौडाई²)
.
►व़त्त
•क्षेत्रफल = πr² (आंतरिक भाग)
•परिधी = 2πr (बाहरी भाग)
.
☞ त्रिआयामी आयत/वर्ग/व़त्त :::
►घन GK Book
•आयतन = भुजा³ (आंतरिक भाग)
•वक्रप़ष्ठ = 6भुजा² (बाहरी भाग)
•विकर्ण = भुजा√ 3
.
►घनाभ
•आयतन = लंबाई x चौडाई x उंचाई (आंतरिक
भाग)
•वक्रप़ष्ठ = 2(lb+bh+hl) (बाहरी भाग)
•विकर्ण = √ (लंबाई² + चौडाई² + उंचाई²)
GK Book
.
►गोला
•वक्रप़ष्ठ = 3πr² (बाहरी भाग)
•आयतन = (4/3)πr³ (आंतरिक भाग)
.
बेलन
वक्रप़ष्ठ = 2πrh (बाहरी भाग)
संपूर्ण प़ष्ठ = 2πr(h+r)
आयतन = πr²h (आंतरिक भाग)
GK Book
.
►शंकु
• आयतन =(1/3)πr²h
• क्षेत्रफल = πr(r+s)
.
☞ त्रिभुज :::
►समबाहु :- सभी भुजाएं बराबर
•क्षेत्रफल = (√ 3)/4 x भुजा²
.
►समद्विबाहु :- कोई भी दो भुजा बराबर
क्षेत्रफल = 1/2 x आधार x उंचाई
GK Book
.
►विषमबाहु :- सभी भुजाएं असमान
•परिमिती = (a+b+c)/2
•क्षेत्रफल = √ [s(s-a)(s-b)(s-c)]
.
☞ चतुर्भुज :::
►समचतुर्भुज :- सभी भुजाएं बराबर और एक
दुसरे के समांतर
•क्षेत्रफल = 1/2 ( विकर्ण1 x विकर्ण2)
.
►समलंब समचतुर्भुज :- आमने -सामने कि
कोई भी दो भुजा समांतर
•क्षेत्रफल = 1/2 ( समांतर भुजाओं का
योग)x उंचाई
GK Book
.
►समांतर समचतुर्भुज :- कोई भी दो भुजा
बराबर
•क्षेत्रफल = आधार x उंचाई.

Comments

कुछ नया सीखे

Inspiring Thoughts

1.खुशी से संतुष्टि मिलती है
और संतुष्टि से खुशी मिलती है
परन्तु फर्क बहुत बड़ा है
“खुशी” थोड़े समय के लिए
संतुष्टि देती है,
और “संतुष्टि” हमेशा के लिए
खुशी देती है

2.शब्द ही जीवन को
अर्थ दे जाते है,
और,
शब्द ही जीवन में
अनर्थ कर जाते है.

3.पानी को कितना भी गर्म कर लें

पर वह थोड़ी देर बाद अपने मूल स्वभाव में आकर शीतल हो जाता हैं।
इसी प्रकार हम कितने भी क्रोध में, भय में, अशांति में रह लें,
थोड़ी देर बाद बोध में, निर्भयता में और प्रसन्नता में हमें आना ही होगा
क्योंकि यही हमारा मूल स्वभाव है ॥